Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Haryana News

Shamli Ambala Highway: शामली न्यूज़ अंबाला शामली इकोनामिक कॉरिडोर पर तीन जगह बनेंगे टोल बूथ

अंबाला :- Shamli 121 किलोमीटर लंबे और 6 दिन वाले Ambala शामली ग्रीन फील्ड इकोनामिक कॉरिडोर पर तीन स्थानों पर चढ़ने और उतरने की व्यवस्था होगी. थानाभवन गोगवान जलालपुर और नानौता में टोलबूथ भी बनेंगे 3663. 80 करोड रुपए की लागत से बनने वाले इस इकोनॉमिक कॉरिडोर के लिए सहारनपुर और शामली जिले में 14 किलोमीटर भूमि पर निर्माण एजेंसी को कब्जा मिल चुका है.

एक अप्रैल 2023 से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा

हरियाणा को पश्चिम उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाले अंबाला शामली ग्रीन फील्ड इकोनामिक कॉरिडोर हरियाणा के अंबाला कुरुक्षेत्र करनाल यमुनानगर पश्चिम उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और शामली जिले के 12 गांवों से होकर गुजरेगा. इस साल वित्तीय वर्ष एक अप्रैल 2023 से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. तीन चरण में पूरा होने वाला यह इकोनामिक कॉरिडोर थानाभवन चीनी मिल के पास दिल्ली सहारनपुर हाईवे के ऊपर से होकर गोगवान जलालपुर में दिल्ली देहरादून इकोनामिक कॉरिडोर में मिलेगा.

गोरखपुर और नेपाल सीमा तक जाएगा इकोनामिक कॉरिडोर एक्सप्रेस वे

गोगवान जलालपुर से लगभग 22 जिलों और 37 तहसीलों से होता हुआ गोरखपुर और नेपाल सीमा तक जाएगा इकोनामिक कॉरिडोर एक्सप्रेस वे के साइट इंजीनियर अमित कुमार शर्मा ने बताया कि सहारनपुर जिले की नुक्कड़ तहसील में यमुना नदी से लेकर गोगवान जलालपुर तक इस इकोनामिक कॉरिडोर के निर्माण के लिए गाजियाबाद की कंपनी को अनुबंध किया गया है.

कंपनी थानाभवन कस्बे के अर्पण पब्लिक स्कूल के पीछे प्लाट लगा रही है उन्होंने बताया कि थाना भवन में दिल्ली सहारनपुर हाईवे पर चीनी मिल की उत्तर दिशा में और दिल्ली देहरादून इकोनामिक कॉरिडोर से मिलने पर गोगवान जलालपुर में और देवबंद मार्ग पर नानौता में इंटरचेंज बनाए जाएंगे निर्माण एजेंसी के प्रोजेक्ट मैनेजर केके शर्मा ने बताया कि इकोनामिक कॉरिडोर के निर्माण के लिए थाना भवन में प्लांट का निर्माण चल रहा है अगले महा प्लांट का कार्य पूरा हो जाएगा उन्होंने बताया कि इंटरचेंज वाले स्थानों पर टोल बूथ बनाए जाएंगे.

पर कब जाना होने से पिछड़ सकता है निर्माण कार्य

थाना भवन में प्लांट का कार्य देख रहे केके शर्मा ने बताया कि अंबाला शामली को नवमी कॉरिडोर का सहारनपुर शामली में 45 किलोमीटर लंबा हिस्सा होगा 14 किलोमीटर पर निर्माण एजेंसी को कब्जा मिल गया है 30 किलोमीटर की भूमि में गन्ना और दूसरी फसल खड़ी है कम भूमि पर कब्जा होने से निर्माण कार्य में देरी हो सकती है गन्ना व दूसरी फसल की खेती का 30 मार्च से पहले खाली नहीं होने वाले हैं.

शामली जिले के गांवों से होकर गुजरेगा एक्सप्रेसवे

औरंगाबाद देवड़ा, मानकपुर बनेड़ा, उद्दा मनगट मंडी, थाना भवन पट्टी, कालू थाना भवन पट्टी, नौगांवा इटारसी जमालपुर कुतुबगढ़, भैसानी इस्लामपुर गोगवान जलालपुर

Vikash Rana

नमस्कार मेरा नाम विकास राणा है. मैं 2023 से हरियाणा न्यूज़ टुडे पर कंटेंट राइटर के रूप में काम कर रहा हूं. मैंने MDU से B-Tech की है. मेरा उद्देश्य है कि हरियाणा की प्रत्येक न्यूज़ आप लोगों तक जल्द से जल्द पहुंच जाए. मैं हमेशा प्रयास करता हूं कि खबर को सरल शब्दों में लिखूँ ताकि पाठकों को इसे समझने में कोई भी परेशानी न हो और उन्हें पूरी जानकारी प्राप्त हो. विशेषकर मैं योजना और गैजेट ऑटोमोबाइल से संबंधित खबरें आप लोगों तक पहुँचाता हूँ.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button