कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, फिर भी स्कूलों में बरती जा रही है लापरवाही

हिसार । स्कूल खोलने के तीसरे दिन जहां कुछ सरकारी व प्राइवेट स्कूल एसओपी का पालन करते हुए दिखाई दिए, वहीं कई स्कूल  कोविड नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए  नजर आए . ऐसे में कोरोना की संभावित तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. सोमवार को जिले के सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में पड़ताल की गई. कुछ स्कूलों में एंट्री गेट पर बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग तक नहीं की गई और बच्चे बिना मास्क के नजर आए.

स्कूलों में कोरोना के नियमों को लेकर बरती जा रही है लापरवाही 

प्राइवेट स्कूलों में बेशक बच्चों की उपस्थिति कम दर्ज की गई, मगर कोविड- नियमों का पूरी तरह से पालन किया गया. छूटी के बाद कुछ स्कूलों के बाहर बच्चे ग्रुप बनाकर खड़े दिखाई दिए. बता दे कि छोटी सी लापरवाही भी बच्चों के लिए घातक साबित हो सकती है. कैमरी स्तिथ चलती देवी गवर्नमेंट गर्ल्स सीसे स्कूल में स्क्रीनिंग के लिए न कोई एंट्री गेट पर चपरासी नजर आया ना ही स्कूल स्टाफ.

यह भी पढ़े   मुख्यमंत्री खट्टर ने की गजब घोषणा, 'पौधे लगाने वाले 8वीं से 12वीं के छात्रों को मिलेंगे एक्स्ट्रा मार्क्स'

साथ ही कक्षा में प्रवेश करने के दौरान छात्रों के बीच उचित दूरी भी नजर नहीं आई. तकनीकी खामियों के चलते प्राइवेट और सरकारी स्कूल का डाटा सोमवार को एमआईएस और अवसर ऐप पर अपलोड नहीं किया जा सका. शिक्षा विभाग द्वारा आदेश दिए गए थे कि सरकारी व प्राइवेट स्कूल संचालक स्कूलों में आने वाले बच्चों का तापमान और हर दिन बच्चों की उपस्थिति यहां दर्ज करेंगे.

हरियाणा से जुड़े सभी खबर सबसे पहले पाने के लिए

अभी हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप को ज्वाइन करे