Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
बिजनेस आइडिया

Business Idea: गाय-भैंस से जुड़े इस बिज़नेस को आप गांव में रहकर कर सकते हैं शुरू

बिज़नेस आईडिया:- पशु चारा Business Idea के माध्यम से आप हर महीने लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ऐसे कारोबार शुरू करने के लिए सब्सिडी भी देती है. एमएसएमई उद्योग के माध्यम से आप सरकार से बंपर अनुदान प्राप्त कर सकते हैं.

news 7

पशु चारा व्यवसाय कैसे शुरू करें

पशु चारा यानी 24 घंटे में पशुओं को खिलाया जाने वाला भोजन, जिसमें पशु के शरीर की जरूरतों को पूरा करने के लिए पोषक तत्व मौजूद होते हैं. जानवरों का उपयोग घास, पुआल, गेहूं की भूसी, अनाज और कृषि से प्राप्त अवशिष्ट सामग्री को खिलाने के लिए किया जाता है, हम एक व्यवसाय के रूप में पशु चारा बनाने का काम भी कर सकते हैं, जैसे हम खेत में घास लगाते हैं और उसे काटकर शहरों में वितरित करते हैं. हम इसकी बैचिंग भी कर सकते हैं, इससे हमें अच्छा मुनाफा मिलता है, केक का इस्तेमाल हम जानवरों के चारे के लिए भी करते हैं.

बंपर मुनाफा होगा

ग्रामीण क्षेत्रों में किसान अब कृषि के साथ-साथ नए व्यवसायों में भी हाथ आजमा रहे हैं. अगर आप गांव में रहते हुए भी बंपर मुनाफा कमाना चाहते हैं तो आप पशु चारा बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. इस बिजनेस से आप लगातार 12 महीनों तक अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं.

पशु चारा व्यवसाय शुरू करें

कृषि अवशेषों जैसे पुआल, गेहूं की भूसी, अनाज, खली, घास आदि का उपयोग पशु चारा बनाने में किया जा सकता है. हालांकि इस बिजनेस को शुरू करने के लिए लाइसेंस की जरूरत होती है. लाइसेंस के अलावा इस बिजनेस के और भी कई जरूरी नियम हैं जिनका आपको पालन करना होता है.

पशु चारा व्यवसाय के लिए लाइसेंस लेना होगा

पशु चारा व्यवसाय के लिए रजिस्ट्रेशन और लाइसेंस लेना होगा. इसके लिए शॉपिंग एक्ट में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. FSSAI से फूड लाइसेंस लेना होगा. जीएसटी रजिस्ट्रेशन भी कराना होगा। विभिन्न मशीनों के उपयोग के लिए पर्यावरण विभाग से एनओसी लेनी होगी. एमएसएमई उद्योग के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी होगा. पशुपालन विभाग से लाइसेंस भी लेना होगा.

आप हर महीने लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं

ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में किसान पशुपालन करते हैं यह किसानों की आय का सबसे बड़ा जरिया बनकर उभर रहा है. ऐसे में आपको चारे के ऑर्डर मिलते रहेंगे. अगर आपका बिजनेस एक बार चल गया तो आप आसानी से हर महीने लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं. ये खबर आप haryananewstoday.com पर पढ़ रहे है. केंद्र सरकार भी ऐसे कारोबार शुरू करने के लिए सब्सिडी देती है. एमएसएमई उद्योग के माध्यम से आप सरकार से बंपर अनुदान प्राप्त कर सकते हैं.

आज कृषि में, कृषि पशुओं की पोषण संबंधी जरूरतों को अच्छी तरह से समझा जाता है और प्राकृतिक चारा और अकेले भोजन के माध्यम से संतुष्ट किया जा सकता है, या केंद्रित, नियंत्रित रूप में पोषक तत्वों के सीधे पूरक द्वारा बढ़ाया जा सकता है. फ़ीड की पोषण गुणवत्ता न केवल पोषक तत्व सामग्री से प्रभावित होती है, बल्कि फ़ीड प्रस्तुति, स्वच्छता, पाचनशक्ति और पेट के स्वास्थ्य पर प्रभाव जैसे कई अन्य कारकों से भी प्रभावित होती है.

फ़ीड योजक एक तंत्र प्रदान करते हैं जिसके माध्यम से इन पोषक तत्वों की कमी को हल किया जा सकता है, विकास, स्वास्थ्य और कल्याण की पशु दरों में सुधार किया जा सकता है. गुणवत्तापूर्ण फ़ीड की उच्च लागत के कारण, कई कृषि पशु आहार में मुख्य रूप से अनाज आधारित सामग्री शामिल होती है.

haryananewstoday

मस्कार दोस्तों मेरा नाम सनी सिंह है. मैं हरियाणा न्यूज़ टुडे वेबसाइट पर एडमिन टीम से हूँ. मैंने मास्स कम्युनिकेशन से MBA और दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म का कोर्स किया हुआ है. मैंने खबरी एक्सप्रेस में भी बतौर कंटेंट राइटर काम किया है. फ़िलहाल मैं रियाणा न्यूज़ टुडे पर आपके लिए सभी स्पेशल केटेगरी की पोस्ट लिखता हूँ. आप मेरी पोस्ट को ऐसे ही प्यार देते रहे. धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button