Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Education News

हरियाणा में प्राइवेट स्कूलों पर बोर्ड का बड़ा कदम, परीक्षा और पेपर चेकिंग के लिए करना होगा ये काम

चंडीगढ़ :- हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड प्रशासन अब नए संकल्प के साथ नए साल में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत बेहतर कदम उठाने जा रहा है. अब ग्रामीण क्षेत्रों के निजी स्कूलों में दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे. निजी स्कूलों में भी बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन केंद्र बनाए जाएंगे. शिक्षा बोर्ड अब तक सिर्फ सरकारी स्कूलों को ही परीक्षा केंद्र बनाते आया है.

 

निजी स्कूलों में भी बनेंगे परीक्षा केंद्र

राज्य भर में लगभग सात हजार निजी स्कूल हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड से संबद्ध हैं. हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने इस शैक्षणिक सत्र की वार्षिक परीक्षाओं के लिए सरकारी स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों में भी परीक्षा केंद्र बनाने का संकल्प लिया है. इसके लिए बोर्ड प्रशासन ने उन निजी स्कूलों से भी आवेदन मांगे हैं जो अपने स्कूल को परीक्षा केंद्र बनाना चाहते हैं.

बोर्ड ने नियम और शर्तें की तय

बोर्ड ने नियम और शर्तें भी तय की हैं. इन शर्तों को पूरा करने वाले निजी विद्यालय निर्धारित शुल्क से अपने विद्यालय को बोर्ड का परीक्षा केंद्र बना सकते हैं जिसमें उसी सत्र की वार्षिक बोर्ड परीक्षाएं भी कराई जाएंगी. इतना ही नहीं निजी स्कूलों का अमला बोर्ड परीक्षा का केंद्र बनाए जाने वाले निजी स्कूलों के अंदर उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन भी करेगा.

इसका एक कारण यह भी माना जाता है कि राज्य के सरकारी स्कूलों की तुलना में निजी स्कूलों के पास बेहतर संसाधन हैं. बोर्ड प्रशासन राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के साथ बोर्ड परीक्षा और उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन के कार्य में सुधार की दिशा में एक नया कदम उठाने जा रहा है.

पिछले साल 1547 परीक्षा केंद्र बनाए गए

पिछले साल हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की मार्च 2022 की परीक्षा के लिए 1547 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. इसमें माध्यमिक परीक्षा में तीन लाख 78 हजार 518 परीक्षार्थी जबकि माध्यमिक परीक्षा में दो लाख 90 हजार 294 परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इस तरह शिक्षा बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं में हर साल छह लाख से अधिक परीक्षार्थी बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल हो रहे हैं.

संबद्ध स्कूलों की स्थिति

दुनिया में लगभग 28,000 सीबीएसई स्कूल हैं जिनमें लगभग 3,000 केंद्रीय विद्यालय शामिल हैं. हरियाणा में दो हजार सीबीएसई स्कूल हैं. इसी तरह हरियाणा में करीब सात हजार निजी स्कूल हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड से संबद्ध हैं. इन निजी विद्यालयों में सरकारी विद्यालयों की तुलना में कहीं बेहतर सुविधाएं हैं जिनका उपयोग शिक्षा बोर्ड प्रशासन द्वारा वार्षिक परीक्षाएं कराने और उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के लिए किया जाएगा. निजी स्कूलों में भी बेहतर शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक स्टाफ है जिसका उपयोग बोर्ड प्रशासन भी करेगा. इससे ये निजी स्कूल भी सीधे शिक्षा बोर्ड के प्रति जवाबदेह हो जाएंगे और उन्हें भी एक नई जिम्मेदारी का अहसास होगा.

बोर्ड अध्यक्ष ने दी जानकारी

अब निजी स्कूलों में परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे और मूल्यांकन व्यवस्था में नई जिम्मेदारी दी जाएगी. सीबीएसई की तर्ज पर इसमें हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के निजी स्कूलों को शामिल किया जाएगा. अभी तक सरकारी स्कूलों में ही मूल्यांकन केंद्र बन रहे हैं अब निजी स्कूलों की भी भागीदारी बढ़ेगी. इससे बेहतर परिणाम आएंगे. निजी स्कूलों में केंद्र स्थापित करने के लिए भी कई आवेदन बोर्ड के समक्ष आ चुके हैं- डॉ. वेदप्रकाश यादव (अध्यक्ष, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी)

haryananewstoday

मस्कार दोस्तों मेरा नाम सनी सिंह है. मैं हरियाणा न्यूज़ टुडे वेबसाइट पर एडमिन टीम से हूँ. मैंने मास्स कम्युनिकेशन से MBA और दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म का कोर्स किया हुआ है. मैंने खबरी एक्सप्रेस में भी बतौर कंटेंट राइटर काम किया है. फ़िलहाल मैं रियाणा न्यूज़ टुडे पर आपके लिए सभी स्पेशल केटेगरी की पोस्ट लिखता हूँ. आप मेरी पोस्ट को ऐसे ही प्यार देते रहे. धन्यवाद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button