Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
Delhi News

Basmati Rice Price: 5300 रुपए के रिकार्ड स्तर पर बासमती का भाव, अभी और बढ़ेंगे दाम; ये है बड़ी वजह

चंडीगढ़ :-Basmati Rice Price विदेशों में बासमती चावल की डिमांड बढ़ने से हरियाणा में भी इसकी किस्म 1401 और 1509 का भाव आसमान छू रहा है. यहां बासमती किस्म का भाव 5,300 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया है जबकि पिछले साल इसी समय तक भाव 3,200 रुपए प्रति क्विंटल तक मिला था. मिडल ईस्ट के देशों में बासमती चावल की डिमांड और बढ़ सकती हैं तो ऐसे में भाव में और अधिक तेजी आने की संभावना बनी हुई है.

खाड़ी के 12 देशों के साथ एक्सपोर्ट का करार

राज्य सरकार की खरीद एजेंसी हैफेड इन दिनों धान की DB-1401 व 1509 वैरायटी के साथ 1121 की खरीद कर रही है. हैफेड का खाड़ी के 12 देशों के साथ एक्सपोर्ट का करार हुआ है तब से इसका भाव लगातार बढ़ रहा है. हैफेड को खाड़ी देशों में 45 हजार मीट्रिक टन चावल एक्सपोर्ट करना है. अब तक हैफेड ने 33 हजार मीट्रिक टन धान खरीद की है, जिससे यह तो स्पष्ट है कि हैफेड अभी और धान की और खरीद करेगी जिससे धान के भाव में और अधिक तेजी दर्ज होगी.

इस बार धान का रकबा कम होने और गोदामों में पिछला स्टॉक समाप्त होने की वजह से इस सीजन की शुरुआत से ही किसानों को धान की किस्म 1121, 1509 व 1401 का भाव तीन हजार रुपए प्रति क्विंटल तक मिला था. नवंबर माह में भाव 3,600 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया था.

दिसंबर के दूसरे हफ्ते में भाव में खासी बढ़ोतरी देखने को मिली और भाव 4,500 रुपए प्रति क्विंटल तक दर्ज हुआ था. एक महीने बाद भाव बढ़कर 5,300 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया है. एक्सपोर्ट विशेषज्ञ का कहना है कि विदेशों में बासमती धान की डिमांड बनी हुई है, जिससे भाव में और अधिक बढ़ोतरी होने की पूरी उम्मीद है.

विश्व के 22 देशों में एक्सपोर्ट

भारत से बासमती धान की किस्म 1121 व DB-1401 पैक होकर मध्य एशिया के करीब 22 देशों में एक्सपोर्ट होता है. इनमें सऊदी अरब, ईरान, ईराक, ओमान, बहरीन, कुवैत प्रमुख रूप से शामिल हैं. फतेहाबाद की एक्सपोर्ट फर्म जिंदल इंडस्ट्री व जिंदल बासमती इंडिया लिमिटेड का माल इन देशों में एक्सपोर्ट होता है. इन फर्मों का 50 हजार टन माल मध्य एशिया के देशों में एक्सपोर्ट होता है.

विश्व का सबसे बड़ा बासमती निर्यातक है भारत

मिली जानकारी के अनुसार, हर साल भारत से लगभग 45 लाख टन बासमती धान एक्सपोर्ट होता है जबकि गैर बासमती धान का आंकड़ा करीब 2 करोड़ टन है. पूरी दुनिया की बात करें तो भारत चावल एक्सपोर्ट करने की सूची में पहले नंबर पर है. दुनिया भर में एक्सपोर्ट होने वाले चावलों मे भारत की हिस्सेदारी 40 फीसदी है जबकि बासमती किस्म के मामले में यह आंकड़ा 90 फीसदी तक पहुंच जाता है.

haryananewstoday

मस्कार दोस्तों मेरा नाम सनी सिंह है. मैं हरियाणा न्यूज़ टुडे वेबसाइट पर एडमिन टीम से हूँ. मैंने मास्स कम्युनिकेशन से MBA और दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म का कोर्स किया हुआ है. मैंने खबरी एक्सप्रेस में भी बतौर कंटेंट राइटर काम किया है. फ़िलहाल मैं रियाणा न्यूज़ टुडे पर आपके लिए सभी स्पेशल केटेगरी की पोस्ट लिखता हूँ. आप मेरी पोस्ट को ऐसे ही प्यार देते रहे. धन्यवाद

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button