पंजीकरण के बाद ही मिलेगा, मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का लाभ

चरखी दादरी :- हरियाणा सरकार (Haryana Government) की मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना (Mukhyamantri Vivah Shagun Yojana) का लाभ विवाह का पंजीकरण ऑनलाइन करवाने के उपरांत ही दिया जाएगा। शादी हो जाने के 6 माह पूरे होने से पहले लाभपात्र विवाहिता का पोर्टल पर पंजीकरण होना जरूरी है।

जिला कल्याण अधिकारी दीपिका सारसर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जो परिवार मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का लाभ लेना चाहते हैं वे अपनी बेटी की शादी के 6 महीने पूरे होने से पहले वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीकरण करवा दें। यह पंजीकरण होने के पश्चात ही विवाहित कन्या के माता-पिता को मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अनुसूचित एवं विमुक्त जाति के परिवार का नाम बीपीएल सूची में है तो उसको कन्या विवाह शगुन योजना के अंतर्गत 71 हजार रुपये का लाभ दिया जाएगा।

सभी वर्गों की विधवा महिलाएंए बेसहारा महिलाए अनाथ बच्चे,बीपीएल सूची में है तो या उनकी आय एक लाख 80 हजार रूपये से कम है तो उनको इस योजना में 51 हजार रुपये का अनुदान दिया जाएगा। दीपिका सारसर ने बताया कि बीपीएल सूचि में सामान्य या पिछड़े वर्ग के परिवार को 31 हजार रुपये का अनुदान मिलेगा। इसी तरह अनुसूचित वर्ग या विमुक्त जाति का परिवार बीपीएल सूचि में नहीं है और जिनकी वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये से कम हैए उनको 31 हजार रुपये का अनुदान दिया जाएगा। विवाहित युगल चालीस प्रतिशत या इससे ज्यादा दिव्यांग है तो उन्हें 51 हजार रुपये और पति- पत्नी में से एक जन चालीस प्रतिशत या इससे अधिक दिव्यांग है तो उसको 31 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

जिला कल्याण अधिकारी ने बताया कि दादरी जिला में इस साल एक अप्रैल के बाद से अब तक 623 परिवारों को मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का लाभ मिल चुका है। इन लाभपात्रों को सरकार की ओर से दो करोड़ 70 लाख 88 हजार रुपये दिए जा चुके हैं। इस स्कीम के बारे में बीडीपीओ परिसर स्थित वेलफेयर ऑफिस से संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.