हाई यूरिक एसिड को न करें नज़रअंदाज़, वरना बन सकता है इन दर्दनाक बीमारियों का कारण

लाइफस्टाइल डेस्क :- डायबिटीज़, हाई बीपी और दिल की बीमारी के साथ यूरिक एसिड के उच्च स्तर के मामले भी काफी देखे जाते हैं। अगर आप सीफूड या ऑर्गन मीट का सेवन ज़्यादा करते हैं, तो आपके शरीर में यूरिक एसिड जमा होने की संभावना बढ़ जाती है। शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने से अर्थराइटिस से लेकर किडनी स्टोन्स और दिल की बीमारी भी हो सकती है।

यूरिक एसिड क्या होता है?

यूरिक एसिड हमारे खून में पाया जाने वाला एक अपशिष्ट उत्पाद है और यह तब बनता है जब शरीर प्यूरीन नामक रसायनों को तोड़ता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ज्यादातर यूरिक एसिड रक्त में घुल जाता है और गुर्दे से होकर गुज़रता है, लेकिन कभी-कभी अवशेष परेशानी का कारण भी बन सकते हैं।

खाने की चीज़ें जिनकी वजह से यूरिक एसिड का स्तर बढ़ सकता है

सामन, झींगा, लॉब्सटर
मांस (रेड मीट)
कॉर्न सिरप
बियर
बीन्स

इसके अलावा हाई यूरिक एसिड से जुड़े और भी ख़तरे हैं:

ज़रूरत से ज़्यादा शराब पीना
दवाइयां
लेड के संपर्क में आना
पेस्टीसाइड्स के संपर्क में आना
हाई ब्लड प्रेशर
किडनी की बीमारी
ग्लूकोज़ के स्तर का ऊपर-नीचे होना
मोटापा

हाइपोथाइराइडिज़्म

ज़रूरत से ज़्यादा एक्सरसाइज़ और वर्कआउट करना
हाई यूरिक एसिड के प्रभाव
अगर उच्च यूरिक एसिड के स्तर का इलाज न किया जाए, तो इससे हड्डियों, जोड़ों और टिशू को स्थायी क्षति पहुंच सकती है। साथ ही किडनी और दिल की बीमारी का जोखिम बढ़ता है।

गाउट: यह एक तरह का अर्थराइटिस होता है, जो यूरिक एसिड का स्तर एकदम से कम होने पर होता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, गाउट आपके शरीर के किसी भी जॉइंट पर हो सकता है, लेकिन आमतौर पर पैर के अगूठे पर सूजन से शुरुआत हो सकती है। पैर, टखने, घुटने और कोहनी पर आमतौर पर गाउट ज़्यादा होता है।

किडनी में पत्थरी: यूरिक एसिड क्रिस्टल्स को नज़रअंदाज़ करने से किडनी में स्टोन्स यानी पत्थरी बन सकती है, जो बेहद दर्दनाक होती है। अगर आपको किडनी इन्फेक्शन हो जाता है, तो आप तेज़ बुखार और कंपकंपी का अनुभव करेंगे।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.