हरियाणा में 60 हज़ार स्कूली बच्चो का भविष्य खतरे में, बंद हो सकते है 1338 प्राइवेट स्कूल

चंडीगढ़ :- हरियाणा में 1338 अस्थाई स्कूलों को एक्सटेंशन नहीं मिलने से 60 हजार विद्यार्थी बोर्ड का फार्म भरने से वंचित रहे गए हैं. इससे विद्यार्थियों और अभिभावकों को परेशानी हो रही है. प्राइवेट स्कूल संघ हरियाणा ने प्रदेश के लगभग 3200 अस्थाई स्कूलों में से सरकार के घोषणा पत्र के वादे के अनुसार एकमुश्त स्थाई मान्यता का इंतजार कर रहे 1338 स्कूलों को एक्सटेंशन दिए जाने की मांग की है.

जल्द जारी हो एक्सटेंशन लेटर

संघ के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू ने कहा कि स्थाई स्कूलों की बोर्ड फार्म भरने की अंतिम तिथि 21 दिसंबर है. जो स्कूल अस्थाई है उनके न तो बोर्ड फार्म भरे जा रहे हैं और न ही नौंवी से 12वीं के Enrollment भरे जा रहे हैं, क्योंकि एक्सटेंशन न मिलने से इन स्कूलों को भिवानी बोर्ड से Affilation नहीं मिली है, जिससे इन स्कूलों की Portal ID बंद है. इसलिए इन स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के भविष्य को देखते हुए इन स्कूलों को एक्सटेंशन लेटर जारी किया जाए, ताकि ये स्कूल बोर्ड एफिलेशन फार्म भरकर अपने बच्चों के बोर्ड फार्म Online भर सके.

बोर्ड कक्षाओं के लगभग 60 हजार बच्चे

प्रदेश के इन 1338 स्कूलों में नर्सरी से 12वीं तक पांच लाख विद्यार्थी पढ़ रहे हैं. अगर केवल 10वीं व 12वीं बोर्ड कक्षाओं के बच्चों की बात करें तो इनकी संख्या लगभग 60 हजार हैं, जो बोर्ड फार्म भरने से वंचित हैं. उन्होंने कहा कि अस्थाई स्कूलों ने स्पोर्ट्स फंड (Sports Fund) भी शिक्षा विभाग में जमा करवाया है, जिसके आधार पर इन स्कूलों के बच्चों ने शिक्षा विभाग ने जो गए खेल करवाए उनमें भी भाग लिया है.

मिडिल स्कूलों से भी भरवाया जाए एफीलिएशन 

कुंडू ने कहा कि पिछले काफ़ी समय से बहुत से मिडल स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए अधिकार अनुसार MIS पोर्टल पर काम कर रहे हैं. इनको स्कूल कोड भी मिला हुआ है. ये स्कूल अपने स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों का विभागीय एमआईएस पोर्टल पर ऑनलाइन Registration भी करते हैं. आज तक इन सभी मिडल स्कूलों के बच्चों के लिए दिया जाने वाला SLC भी सभी सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में मान्य है. इसलिए इन मिडल स्कूलों से भी ऐफिलेशन भरवाया जाए.

Leave a Comment

Your email address will not be published.