Indian Railway: कोहरे को लेकर रेल विभाग की तैयारियां शुरू, बनाया ये खास प्लान

रेवाड़ी :- नवंबर महीना शुरू हो चुका है November महीने के खत्म होने के साथ- साथ सर्दियों का मौसम शुरू हो जाएगा. सर्दियों में कोहरा होने की वजह से सड़क हादसे और रेल हादसे बहुत अधिक संख्या मेे होते हैं. इन रेल हादसों को कम करने के लिए उत्तर पश्चिमी Railway ने अभी से सुरक्षा के उपायों की तलाश करनी शुरू कर दी है. वही Railway के द्वारा लोको पायलट को फॉग सेफ्टी डिवाइस और ट्रेनों का GPS सिस्टम मजबूत करना अभी से शुरू कर दिया है.

कोहरे के कारण प्रत्येक वर्ष होते हैं बड़ी संख्या मे रेल हादसे  

बता दे कि अब सर्दियों का मौसम शुरू होने वाला है, जिस वजह से Railway की परेशानियां बढ़ने वाली हैं. सर्दियों में कोहरा बहुत ज्यादा होने की वजह से उत्तरी भारत में प्रत्येक वर्ष बड़ी संख्या में रेल हादसों होते है. इन Rail हादसों को कम करने के लिए विभाग के द्वारा पहले से ही सुरक्षित संचालन के लिए विशेष प्रबंध किए जा रहे हैं. विभाग की तरफ इंजीनियरिंग, विद्युत यांत्रिकी, परिचालन, दूरसंचार विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं, ताकि होने वाले हादसों को कम किया जा सके और सुरक्षित रेल संचालन किया जा सके.

स्टेशनों पर उपलब्ध करवाएं जा रहे फॉग सेफ्टी डिवाइस 

उत्तरी रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि करण ने जानकारी देते हुए बताया कि अत्यधिक कोहरे से प्रभावित होने वाले स्टेशनों पर Visibility Test Object प्रदान किए जा रहे हैं. जबकि जयपुर और बीकानेर खंडों में 877 फॉग सेफ्टी डिवाइस उपलब्ध करवाए गए है. यह डिवाइस Train के इंजन पर लगाए जाते हैं जोकि पायलट को उस खंड के सिग्नलो की दूरी बताती है. Signal की दूरी पता होने पर पायलट पहले ही Train को कंट्रोल करने लगता है. रेलवे विभाग ने यात्रियों के सफर को सुरक्षित बनाने के लिए ही पहले से सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली है

रेल कर्मचारियों के लिए लगाए जा रहे सेफ्टी सेमिनार 

रेलवे विभाग के द्वारा अधिक कोहरे वाले स्थानों पर कर्मचारियों के लिए सेफ्टी सेमिनार आयोजित किए जा रहे हैं. इन सेमिनारो में संबंधित कर्मचारियों को कोहरे के समय सतर्कता कैसे बरती जाए, आदि सेे संबंधित जानकारी दी जा रही है. इसकेेे अलावा रेलवे के द्वारा न्यूनतम तापमान वाले वेल्डिंग फेलियर की पहचान करके उन्हें ठीक करवाया जा रहा है. रेलवे ने कोहरे से होने वाले हादसों को कम करने और Rail संचालन सुरक्षित ढंग से करने के लिए विशेष प्रबंध किए हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published.