पतले धान की सज गई मंडी, हरियाणा और पंजाब से आए व्यापारी, मिलर्स और बड़ी फर्मों के लिए खरीद रहे धान

चंडीगढ़ :- गल्ला मंडी में पतले धान की आवक तेज हो गई है। धान खरीद के लिए दूसरे प्रांतों से 20 खरीदार आए हैं। खरीदार मिलर्स और बड़ी फर्मों के लिए धान की खरीद कर रहे हैं। मंडी प्रतिदिन औसतन 10 हजार क्विंटल धान की खरीद हो रही है। नवीन गल्ला मंडी बिंदकी में एक पखवारे से धान की आवक में तेजी आई है। मंडी में पतला धान आरेस्टन, सरबती और ताज सबसे अधिक आ रहा है।

हरियाणा, पंजाब और बरेली से करीब 20 से अधिक खरीदार मंडी में आए हैं। धान की खरीद कर सीधे हरियाणा, पंजाब और दिल्ली भेज रहे हैं। दूसरे प्रांत से आए खरीदार के कारण मंडी में धान के भाव में उछाल है। प्रतिदिन औसतन मंडी में 10 हजार क्विंटल धान की खरीद हो रही है, जो बाहर जा रहा है।

यह है पतले धान का भाव

आरेस्टन -2100 से 2200 रुपये प्रति क्विंटल
सरबती -2200 रुपये प्रति क्विंटल
ताज -2200 से 2300 रुपये प्रति क्विंटल
एटीएम मंडी के नाम से चर्चित है बिंदकी गल्ला मंडी
बिंदकी गल्ला मंडी छोटे व्यापारियों और किसानों के बीच एटीएम मंडी के नाम से चर्चा में है। यहां पर धान की तौल होने के साथ ही नकद भुगतान की व्यवस्था है.

मिलर्स एवं गल्ला व्यापार समिति बिंदकी के अध्यक्ष आनंद गुप्ता ने बताया कि बिंदकी गल्ला मंडी में आढ़तियों का हिसाब बिल्कुल साफ है। यहां पर छोटा व्यापारी हो या किसान उसे पूरी सहूलियत दी जाती है। चाहे तो कैश ले या फिर खाते पर भुगतान। किसी प्रकार की दिक्कत नहीं है। नकद भुगतान के कारण किसान और छोटे व्यापारी यहां माल बेचना अधिक पसंद करते हैं।

सबसे अधिक धान करनाल जा रहा

उन्होंने बताया कि मंडी में औसतन 10 हजार क्विंटल से अधिक की धान खरीद हो रही है। सबसे अधिक धान हरियाणा के करनाल जा रहा है। पूरे जिले से पतला धान बिंदकी मंडी में आ रहा है। बाहर से आए खरीदार के कारण किसान का धान का अच्छा भाव मिल रहा है

Leave a Comment

Your email address will not be published.