झज्‍जर में पोलिंग बूथ में बल्ब होल्डर में लगे मिले तीन स्पाई कैमरे, पंखे का कनेक्‍शन करने पर सामने आया खेल

झज्जर :- झज्‍जर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव शेरिया के राजकीय विद्यालय में बनाए गए पोलिंग बूथ में मतदाताओं पर नजर बनाए रखने के लिए तीन स्पाई कैमरा इंस्टाल किए गए थे. बल्ब होल्डर में कब इन कैमरा को यहां इंस्टाल किया गया, किसने यह इंस्टाल किए या करवाए, अभी सवाल बना हुआ है. बहरहाल, स्कूल की एक स्टाफ सदस्या पूजा की शिकायत पर थाना बेरी की टीम ने मामला दर्ज कर लिया है. जिसके आधार पर होने वाली जांच के बाद पूरे मामले का पटाक्षेप हो पाएगा. दूसरी ओर, समय रहते हुए मामले का खुलासा हो जाने से ग्रामीण काफी अच्छा महसूस कर रहे हैं. मौके पर पहुंचे ग्रामीणों का कहना है कि अगर इसका पता नहीं चलता तो लोकतंत्र की तो हत्या होती ही. साथ ही गांव में बड़े स्तर पर तनाव की स्थिति भी बन सकती थी. ऐसे में पुलिस को आने वाले दिनों में गंभीरता से इसकी जांच करनी चाहिए.

पंखा नहीं चल पाने की वजह से सामने आया पूरा खेल

बता दें कि गांव शेरिया के राजकीय विद्यालय में पंचायत चुनाव के लिए पोलिंग बूथ बनाया गया है. जिसके तीन कक्षों में रविवार को पोलिंग होनी है. तीनों कक्षों में एक-एक होल्डर में एलईडी बल्ब के रूप में स्पाई कैमरा लगा हुआ था. जिसका खुलासा शनिवार को उस दौरान हुआ. जब बूथ पर तैनात टीम के सदस्य ने वहां पर लगे हुए पंखे को चलाने का प्रयास किया. जब पंखा नहीं चल पाया तो बिजली के मिस्त्री को बुलाते हुए पड़ताल की गई. प्रक्रिया के दौरान पंखे की तार की जगह पर होल्डर का कनेक्शन हो रखा था. मामला संदिग्ध प्रतीत होने के चलते होल्डर खोलकर चेक तो स्पाई कैमरा लगे होने की बात सामने आईं.

मौके पर मौजूद रहे ग्रामीण एवं स्कूल स्टाफ दोनों ही इस बात से अनभिज्ञ दिखाई दिए. किसी को भी यह नहीं पता कि कब तो इन्हें इंस्टाल किया गया और किसने करवाया है. लेकिन, गांव के युवाओं का इतना जरूर कहना है कि अगर कैमरा इंस्टाल करवाने वाला अपने मकसद में कामयाब हो जाता तो आने वाले दिनों में गांव में तनाव की स्थिति जरूर बननी थी. इधर, मामला गंभीर होने के चलते मौके पर पुलिस की टीम बुलाई गईं.

अपनी तरह का पहला मामला आया सामने

स्कूल में मौजूद रहे ग्रामीणों ने बताया कि यह अपनी तरह का पहला ऐसा मामला सुनने में सामने आया है. जिसमें मतदाताओं एवं पूरी चुनावी प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए किसी बाहरी व्यक्ति द्वारा हस्तक्षेप किया गया हो.

स्टाफ सदस्या की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है. अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं है. आने वाले दिनों में इसकी जांच करवाई जाएगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published.