हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर पलवल, सोनीपत, मानेसर समेत इन जिलों को पहुंचेगा फायदा

फरीदाबाद :- केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को हरियाणा की जनता को बड़ा तोहफा दिया. शाह ने फरीदाबाद में हरियाणा रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया. इसकी कुल लागत 5,618 करोड़ रुपये है. इस कॉरिडोर का निर्माण हरसाना से पलवल तक होगा. कुंडली-मानेरस-पलवल एक्सप्रेस वे के साथ-साथ हरियाणा रेल ऑर्बिलटल कॉरिडोर बनाया जाएगा. कॉरिडोर बनने के बाद विकास को नई रफ्तार मिलेगी. हरियाणा रेल इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन की ओर से रेलवे लाइन बिछाने की परियोजना को अंतिम रूप दिया जाएगा.

पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्जर और सोनीपत के लोगों को होगा फायदा

हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर बनने से पलवल, नूंह, गुरुग्राम, झज्जर और सोनीपत के लोगों को फायदा होगा. ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर के लिए जिले में 18 गांवों की 94 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा. 121.7 किमी लंबा कॉरिडोर बनाने के लिए करीब 5618 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. यह रेलवे लाइन पलवल रेलवे स्टेशन से शुरू होकर हरसाना कलां रेलवे स्टेशन तक बिछाई जाएगी. इस पर रेल चलने के बाद हजारों यात्रियों को फायदा होगा.

बता दें कि हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर बनाने के लिए हरसाना कलां रेलवे स्टेशन को जंक्शन का रूप दिया जाएगा. इसके बाद जिले में तुर्कपुर व खरखौदा में रेलवे स्टेशन बनाए जाएंगे. इसके बाद जसौर खेड़ी, मांडौठी, बादली, देवरखाना, बाढ़सा, न्यू पातली, मानेसर, चंदला डूंगरवास, धूलावट, सोहना, सिलानी व न्यू पलवल में स्टेशन बनाए जाएंगे. रेलवे लाइन बिछने से गुरुग्राम, मानेसर, सोहना, फर्रुखनगर, खरखौदा व सोनीपत औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को फायदा होगा.

जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू

20 हजार यात्री रोजाना यहां से सफर कर सकेंगे तो मालगाड़ी के जरिये रोजाना 5 करोड़ टन माल ढोया जा सकेगा. इस रेलवे लाइन से मल्टी लॉजिस्टिक हब को ज्यादा फायदा होगा. रेल लाइन बिछाने का प्रोजेक्ट पांच साल में पूरा होना है. इसके लिए जिलास्तर पर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

किसानों को मुआवजा वितरित किया जाएगा

इस योजना के पहले चरण में नवंबर के पहले सप्ताह में खरखौदा तहसील के अंतर्गत आने वाले गांवों की जमीन का अवार्ड सुनाया जाएगा. इसके बाद रेलवे से बजट जारी होते ही जमीन अधिग्रहण के लिए किसानों को मुआवजा वितरित किया जाएगा. किड़ौली, पाई, पहलादपुर, बरोणा, गोपालपुर, पिपली, थाना कलां, तुर्कपुर, मंडोरी, मंडोरा, नाहरा, मल्हामाजरा, छतेहरा बहादुरपुर, जगदीशपुर, नसीरपुर बांगर, हरसाना खुर्द, हरसाना कलां, अकबरपुर बारोटा गांव की 94 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा.

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.